शुक्रवार, 29 जून 2007

धर्म-निरपेक्षता

धर्म-निरपेक्षता
और
तटस्थता की पवित्र नीति
यों अपनाई हमने
कि हो गए धर्महीन
छोड दिए सब रिवाज
और तोड दीं सब रीति | 
-ऋषि गौड

1 टिप्पणी:

  1. सचमुच जो हिम्मत से सामना नहीं कर पाते, वे ऐसे ही पलायनवादी रुख अपनाते हैं |

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणी ही हमारा पुरस्कार है।