गुरुवार, 17 जून 2010

जरा इधर भी तो नजर डालिए, जनाब.....



बहुत हुई बकवास

कि अब अमर करें बनवास

कि छोड़ दिया मुलायम गद्दी

कि अब करें वे ब्लॉगवास

कि अब वे उचरें कांग्रेस-राग

कि अब गाएंगे वो गीत

कि अब बने वो मैडम के मीत

तो भैया, बहुत हुई बकवास

अब रहो ना तुम उदास

और कुछ इधर-उधर से लेके

निकालो अपनी भी भड़ास......

[चित्र गूगल मियां की कृपा से]

20 टिप्‍पणियां:

  1. Bahut Acche Diwakar Bhai...

    कि अब गाएंगे वो गीत


    कि अब बने वो मैडम के मीत

    Sahi kaha aapne...

    उत्तर देंहटाएं
  2. कि अब गाएंगे वो गीत


    कि अब बने वो मैडम के मीत


    तो भैया, बहुत हुई बकवास


    अब रहो ना तुम उदास


    और कुछ इधर-उधर से लेके


    निकालो अपनी भी भड़ास......

    वाह भाई वाह...एकदम यथार्थ और सटीक और हाँ अधिकत्तर नेता एक ही थैली के चट्टे-बट्टे हैं...।

    अमर सिंहजी वेचारे.....भाग्य के मारे..अब ना इधर के हुए ना उधर के अस्तु...बस दिन काट रहे हैं....

    उत्तर देंहटाएं
  3. You have a very good blog that the main thing a lot of interesting and beautiful! hope u go for this website to increase visitor.

    उत्तर देंहटाएं
  4. .
    @-निकालो अपनी भी भड़ास....

    In my humble opinion one should not vent out his/her pent up bitterness in posts.

    Blog space is a very pious platform.

    उत्तर देंहटाएं
  5. @ दिव्या जी, यहाँ भड़ास से तात्पर्य अपने विचार अथवा भावना को संयत-शालीन-सभ्य शब्दों में उकेरने से है. इससे कोई अन्य अर्थग्रहण अपेक्षित नहीं है.
    इस ब्लॉग पर आगमनार्थ आपका धन्यवाद..

    उत्तर देंहटाएं
  6. @ दिव्या जी, माफी-क्षमा जैसे शब्दों का प्रयोग कर मुझे लज्जित ना करें...आपने ऐसी तो कोई बात ही नहीं, जिसके लिए क्षमा शब्द का प्रयोग करना पड़े.....

    उत्तर देंहटाएं
  7. Maza aaya.........
    Aap Hindi ke 'singh' bane aur aapka lekhan 'amar' rahe.....
    ha ha ha!

    उत्तर देंहटाएं
  8. It's been ages I have seen any post from you. Hope all is well at your end.

    उत्तर देंहटाएं
  9. सर ! अच्छी चुटकियाँ हैं। आपके ब्लॉग का कलेवर अच्छा लगा।

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपकी भड़ास निकली या अभी बाकी है.

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत खूब दिवाकर जी !
    कभी समय मिले तो हमारे ब्लॉग//shiva12877.blogspot.com पर भी अपने एक नज़र डालें

    उत्तर देंहटाएं
  12. जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें।
    आपका जीवन
    सुख, शान्ति,
    स्वास्थ्य
    एवं समृद्धि से परिपूर्ण हो।

    इस अवसर पर एक वृक्ष लगायें।
    जन्मदिन को यादगार बनायें॥

    पृथ्वी के शोभाधायक, मानवता के संरक्षक, पालक, पोषक एवं संवर्द्धक वृक्षों का जीवन आज संकटापन्न है। वृक्ष मानवता के लिये प्रकृति प्रदत्त एक अमूल्य उपहार हैं। कृपया अपने जन्मदिवस के शुभ अवसर पर एक वृक्ष लगाकर प्रकृति-संरक्षण के इस महायज्ञ में सहभागी बनें।

    उत्तर देंहटाएं
  13. कांग्रेसी नेता इस बात का जी तोड़ प्रयत्न कर रहे हैं कि किसी प्रकार से सत्ताधारी परिवार (दल नही परिवार) की छवि गरीबों के हितैषी के रूप मे सामने आए, इसके लिए वो छल छद्म प्रपंच इत्यादि का सहारा लेने से भी नही चूकते। इसकी जोरदार मिसाल आपको नीचे के चित्र मे मिल जाएगी
    http://bharathindu.blogspot.com/2011/03/blog-post.html?showComment=1299158600183#c7631304491230129372

    उत्तर देंहटाएं
  14. ब्लॉग जगत में पहली बार एक ऐसा सामुदायिक ब्लॉग जो भारत के स्वाभिमान और हिन्दू स्वाभिमान को संकल्पित है, जो देशभक्त मुसलमानों का सम्मान करता है, पर बाबर और लादेन द्वारा रचित इस्लाम की हिंसा का खुलकर विरोध करता है. जो धर्मनिरपेक्षता के नाम पर कायरता दिखाने वाले हिन्दुओ का भी विरोध करता है.
    इस ब्लॉग पर आने से हिंदुत्व का विरोध करने वाले कट्टर मुसलमान और धर्मनिरपेक्ष { कायर} हिन्दू भी परहेज करे.
    समय मिले तो इस ब्लॉग को देखकर अपने विचार अवश्य दे
    .
    देशभक्त हिन्दू ब्लोगरो का पहला साझा मंच - हल्ला बोल
    हल्ला बोल के नियम व् शर्तें

    उत्तर देंहटाएं
  15. आप का बलाँग मूझे पढ कर आच्चछा लगा , मैं बी एक बलाँग खोली हू
    लिकं हैhttp://sarapyar.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  16. कि अब बने वो मैडम के मीत।


    बहुत खूब ।

    मार्कण्ड दवे।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणी ही हमारा पुरस्कार है।